Articles, Blog

यीस्ट संक्रमण यानी कैंडिडिआसिस के लिए घरेलु उपचार – Top 8 Home Remedies for Yeast Infection

August 17, 2019


कैंडिडिआसिस कंडिडा नामक एक समस्या है जो फंगस के कारण होती है , और जो जननांग क्षेत्र में संक्रमण का कारण बनती है, लेकिन यह अन्य क्षेत्रों को प्रभावित कर सकती है। यह महिलाओं में अधिक आम है, लेकिन इसके द्वारा पुरुष भी प्रभावित हो सकते हैं। हालांकि यह असुविधाजनक और परेशान करने वाली है, पर अच्छी खबर यह है कि इसका इलाज है। आम तौर पर सामान्य उपचार लेप या दवा के साथ किया जाता है जो कि फंगस से पैदा होने वाली इस बीमारी को दूर करता है , और लक्षणों से छुटकारा पाने में मदद करते हैं। आज की वीडियो में हम आपको ऐसे आठ घरेलु उपचार बताएंगे जो कि कैंडिडिआसिस का उपचार करने में सहायता करेंगे। ऑरेगैनो ऑरेगैनो में प्राकृतिक रोगाणुरोधी, एंटीवायरल और एंटी इन्फ्लैमटॉरी पदार्थ होते हैं जो कैंडिडा फंगस की कोशिकाओं को खत्म करते हैं। 500 मिलीलीटर गर्म पानी में 1 चम्मच ऑरेगैनो डालें । इसे एक मध्यम आकार के कटोरे में अच्छी तरह से मिलाएं, और अपने जननांगों को इस पानी से धो लें । सोने से पहले हर रोज़ करें, और कैंडिडिआसिस के लक्षण ख़तम होने तक सोते समय रात को अंडरवियर न पहनें । बेकिंग सोडा बेकिंग सोडा के प्राकृतिक एंटीबायोटिक और एंटी फंगल के गुणों को अच्छी तरह से जाना जाता है, और ये आपका कैंडिडिआसिस के उपचार में मदद कर सकता है ।गर्म पानी के एक मध्यम आकार के कटोरे में 50 ग्राम बेकिंग सोडा डालें और लगभग 20 मिनट के लिए इस पानी के साथ अपने इंटिमेट एरियाज को धो लें। एक सप्ताह में हर दिन इस प्रक्रिया को दोहराएं। लहसुन लहसुन को प्राकृतिक एंटीबायोटिक और एंटी-फंगल माना जाता है जो बैक्टीरिया और फंगस के बनने को रोकता है और कैंडिडिआसिस के लक्षणों से मुक्त होने में मदद करता है। लहसुन के दो टुकड़े हर रोज़ , अकेले या किसी खाद्य पदार्थों के साथ मिला कर खाएं , इससे आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली बेहतर होती है , और यह आपके शरीर को बाहरी बुरे तत्वों से लड़ने में मदद करता है । सिरका सिरका, ख़ास कर एप्पल साइडर सिरके में वो पदार्थ होते हैं जो फंगस के विकास को नियंत्रित करते हैं, और आपके शरीर के पीएच स्तर को संतुलित करते हैं। इसका पीएच स्तर आपके जननांगों के पीएच स्तर के बराबर होता है , और उस जगह पर एसिडिटी से बचने में यह आपकी मदद कर सकता है जिससे कैंडिडिआसिस के होने की सम्भावना कम हो जाती है । आप संक्रमण को दूर करने के लिए आधा लीटर गर्म पानी के एक कटोरे में 4 चम्मच सिरका डाल सकते हैं, और प्रभावित क्षेत्र को हर रोज़ 20 मिनट के लिए धो सकते हैं या 1 चम्मच सिरका 200 मिलीलीटर पानी के साथ एक कप में मिलाकर जब तक संक्रमण दूर न हो जाये तब तक इसे हर रोज़ नाश्ते से पहले पी सकते हैं। नारियल का तेल नारियल तेल में वो पदार्थ होते हैं जिन्हें एंटी माइक्रोबियल (सैचुरेटेड फैट्स ) माना जाता है, और यह कई प्रकार के फंगस को नष्ट कर सकता है, जिसमें कैंडिडा भी शामिल है। आप हर रोज़ खाने में नारियल के तेल का एक बड़ा चमचा ले जा सकते हैं, इसे अपनी हर रोज़ की खाने की आदतों में शामिल कर सकते हैं, या यहां तक ​​कि उस जगह पर दिन में 3 बार इसे लगा सकते हैं जब तक कि इसके लक्षण समाप्त नहीं हो जाते। डेंडिलियन डेंडिलियन एक पौधा है, और इस का रस विटामिन और महत्वपूर्ण खनिजों से भरा है, जो फंगस और बैक्टीरिया के कारण होने वाली समस्याओं का इलाज करता है, इसका अर्थ है कि इसमें फंगस – विरोधी गुण हैं जो कैंडिडिआसिस के विकास को कम करते हैं। एक लीटर उबलते पानी में डेन्डिलीयन के 2 चम्मच डालें । कुछ मिनटों तक ऐसे ही रहने दें और फिर इसे ठंडा होने दें । छान कर इस चाय को दिन में 2 से 3 बार पिलाने से लक्षण गायब हो जाते हैं। प्राकृतिक दही प्राकृतिक दही में प्रोबायोटिक्स और अच्छे बैक्टीरिया होते हैं जो अच्छे सेल्स को स्वस्थ रखते है और बुरे सेल्स को ख़त्म करते हैं। इसलिए, ये फ़ंगाई के कारण पैदा हुए कैंडिडा जैसे संक्रमण से लड़ते हैं। दही की मदद से अपने जननांगों की एसिडिटी को कम करने और फंगस से लड़ने के लिए, इसे प्रभावित क्षेत्र (लगभग 1 चम्मच ) पर लगाएं , और लगभग एक घंटे तक ऐसे ही रहने दें । इस प्रक्रिया को दिन में दो बार दोहराएं जब तक कि लक्षण ख़त्म न हो जाए। शहद हनी अपने फंगस विरोधी गुणों के कारण कैंडिडिआसिस के इलाज के लिए एक अच्छा प्राकृतिक उपाय है। प्रभावित क्षेत्र पर शहद को लगाएं और गर्म पानी से 15 से 20 मिनट बाद धो लें। इन घरेलू उपचारों के अलावा, हमारी जीवन शैली में कुछ बदलाव उपचार की गति बढ़ा सकते हैं। कम शुगर वाला आहार आपके शरीर में फंगस से लड़ने में मदद करता है, और जल्दी से कैंडिडिआसिस का इलाज कर सकता है।

3 Comments

  • Reply Puja kumari November 20, 2018 at 2:59 am

    Very good mam

  • Reply rose lily March 2, 2019 at 5:17 pm

    Kia yeah sahi recamet hai

  • Reply neha20. girase April 2, 2019 at 11:22 am

    Hiee Muze pus jata h. Boil hua h

  • Leave a Reply